समावेशी कक्षा में बधिर छाते के संदर्भ में अध्‍यापकों के अनुदेशन कौश्‍ल्‍य का अध्‍ययन

Jitendra Pratap Singh

Abstract


उद्देश – वर्तमान अध्‍ययन का उद्देश समावेशी शिक्षा में शिक्षकों के बधिर को अनुदेशन प्रदान करने के ज्ञान और कौषलों का अध्‍ययन में सर्वेक्षण के व्‍दारा समावेशी शिक्षा के प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत के लिऐ उत्‍तर प्रदेश राज्‍य के बरेली जनपद के प्राथमिक विद्यालयों मे कार्यरत समावेषी शिक्षा में प्रषिक्षित तथा समावेशी शिषा में अप्रशिक्षित कुल 38 शिक्षकों का याद्च्छिक प्रतिदर्ष विधि व्‍दारा चयन किया गया ।  उपकरण – अध्‍ययन में प्रदत्‍तों के संकलन के लिऐ सिंह कौषलेन्‍द्र (2006) व्‍दारा अपने शोध अध्‍ययन में प्रयुक्‍त शिक्षकों के विशिष्‍ट कौशल्‍य अनुदेशन अभित्त्ति मापनी का प्रयोग किया।  परिणाक्षाम –अध्‍ययन के परिणामों से स्‍पष्‍ट होता है कि समावेशी शिक्षामें कार्यरत प्रषिक्षित शिषकों को सेवारतप्रशिषणकीसे अधिक प आवश्‍यकता है  तथा ुर्नि‍समावेशी शिक्षा में अप्रशिक्षत शिक्षकों के लिऐ भी अधिक से अधिक प्रशिक्षिण कार्यक्रम और पुनचर्या पाठकञमों को लागूकरकें उन्‍हल समावेश शिक्षा की आवश्‍यकता के अनुरुप बनाने का प्रयास कियाजाना चाहिए । 


Keywords


Hearing impaired students, inclusive classroom, and training

Full Text:

PDF

References


Singh, K. (2006). A study on skill and knowledge of teachers to teach hearning impaired students in inclusive classroom. (Unpublished Masters Dissertation). N.I.H.H. Mumbai.

Tambe, S. (2005). A caomparative study of science teaching competencies used in class V to regular school and school for children with hearing impairement. (Unpublished Masters Dissertation). Mumbai University, Mumbai.


Refbacks

  • There are currently no refbacks.


Creative Commons License
This work is licensed under a Creative Commons Attribution 3.0 License.