लोकसभा चुनाव 2014 ,मोदी और सोशल साइट्स

Keshav Patel

Abstract


पिछले कई सालों से पूरी दुनिया में एक नई तरह की क्रांति हो रही है....कई तानाशाहों को जड़ से उखाड कर फेक दिया गया....ट्यूनीसिया, मिस्र, यमन, लीबिया, सीरिया, बहरीन, सउदी अरब, कुवैत, जार्डन, सूडान जैसे पूर्व मध्य एशिया और अरब के देश पिछली कई शताब्दियों से तानाशाहों के दमन चक्र में फंसी हुई थी लेकिन 2010 में अरब क्रांति ने एक नया इतिहास रचा और अरब को तानाशाही के चंगुल से आजाद कराया..........लेकिन इस आजादी की लडाई में लोगों के हाथ एक नयी तरह की ताकत हाथ लगी और ये थी VIRTUAL MEDIA  की ताकत।जिसे आमतौर पर SOCIAL MEDIA  के नाम से भी जाना जाता है। लोगों नें फेसबुक टिव्टर ब्लागिंग का सहारा लेकर इस क्रांति को अंजाम दिया.....ऐसा  नहीं है कि सोशल मीडिया की यह ताकत सिर्फ विदेशों में ही मौजूद रही पिछले कुछ सालों में भारत में वर्चुअल यानी सोशल मीडिया ने अपनी सशक्त उपस्थिति भारतीय राजनीति में दर्ज कराई है यही कारण है कि भारतीय राजनेताओं ने जितना महत्तवपूर्ण लोगों के बीच जाकर अपनी बात कहने चाही उससे भी कहीं ज्यादा सोशल मीडिया को तवोज्जों मिली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तो सोशल मीडिया मैनेज करने के लिए विदेशों से  विशेषज्ञ तक बुलाये थे। सोशल मीडिया कैंपनिंग की वजह से ही मोदी शहर से लेकर छोटे गांव तक युवाओं के बीच गहरी पैठ बना सके। और देश में 33 सालों बाद एक स्थिर सरकार बन सकी।


Full Text:

pdf

References


• Bekkers,V.,Beunders,H.,Edwards,H.&Moody,A.(2011). New Media, Micro mobilization and Political Agenda Setting: Crossover Effects in Political Mobilization and Media Usage. InThe Information Society: An International Journal , 2011, Vol. 27, No. 4.http://dx.doi.org.

• Burkey,W.(2011). ‘Media, Youth Activism & Participatory Politics: Case Studies in a Digital Age’.dmlcentral.net/blog/whitney

• -burke.Wim van de Donk (2004) Cyberprotest: New Media, Citizens and Social Movements. Routledge, London U

• Nair,S.Kumar (2012).SOCIAL MEDIA AND SOCIO-POLITICAL CAMPAIGNS IN INDIA: SLACTIVISM VS.ACTIVISM , Masters Thesis, Christ University.

• Rheingold, Howard (1993) The Virtual Community: Homesteading on the Electronic Frontier. Reading, Mass.: Addison-Wesley Pub. Co.

• McQuail D (1996) Mass Media in the Public Interest: Mass Media Society. Arnold Publication, London, UK.

• https://www.facebook.com

• patel, keshav. "Social Media in the Indian Context: -New flavor of the Season." GLOBAL JOURNAL OF MULTIDISCIPLINARY STUDIES 4.6 (2015): 268-270.

• Keshav, Patel. "संचार माध्यम और समाजिक पुनर्रचना." GLOBAL JOURNAL OF MULTIDISCIPLINARY STUDIES 1.6 (2015): 37-43.

• patel, keshav. "भारतीय राजनीति में वर्चुअल मीडिया की भूमिका: लोकसभा 2014."भारतीय सामाजिक शोध की नूतन प्रव्रत्तियाॅं (2014): 41-59.


Refbacks

  • There are currently no refbacks.


Creative Commons License
This work is licensed under a Creative Commons Attribution 3.0 License.