मालवा प्रदेश के ऐतिहासिक पर्यटन केंद्रोमे पर्यटकों का संचरण प्रारुप

Anima Ojha

Abstract


ऐतिहासिक पर्यटन प्राचीनपरम्‍परा होने के बावजूद भी एक विष्‍य के रुप में नवीन संकल्‍पना है।  मालवा प्रदेष मध्‍यप्रदेश का एक ऐसा क्षेत्र है जहां परिस्थिकी पर्यटन विकास हेतु प्राक्रतिक और ऐतिहासिक संसाधनों के विषाल भंडार मौजूद है  परंतु उचित नियोजन के अभाव में यहां पर न केवल इन संसाधनों का क्षय हो रहा है।  यहा आ रहे पर्यटकों के संचरण प्रतिरुप एवं उनके उददेष्‍यों का जानना एक जटिल कार्य है। पर्यटको के संचरण प्रतिरुपके यथार्थ रुप को जानने हेतु पर्यटको को गहन संपर्क आवष्‍यक है।  पर्यटन संबंधी सूचनाऍ मुख्‍यता पर्यटको का वितरण स्‍वरुप,पर्यटकोकी आयु, लिंग व वैवाहिक स्‍तर, पर्यटको की विश्राम की अवधि,षिकायते, प्रतिक्रयाऍ सुझाव इत्‍यादि से संबंधित विषेषताओंका अध्‍ययन पर्यटक की विषेषताओ से प‍िरि‍चत करता है।  इन विषेषताओ का अध्‍ययन क्षेत्र के भावी पर्यटन विकास में सहायक सिध्‍द होता है। 


Keywords


ऐतिहासिक पर्यटन, परिस्थितिकी पर्यटन पर्यटक, संचरण प्रतिरुप

Full Text:

PDF

Refbacks

  • There are currently no refbacks.


Creative Commons License
This work is licensed under a Creative Commons Attribution 3.0 License.